Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana (PMKY)

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana

Unemployment is a major obstacle in India’s progress. To battle this ever-increasing drift in economic prowess, the Government of India launched the Pradhan Mantri Vikas Yojana, which aims at developing people’s skills first and then introducing them to avenues that can actually fetch means of livelihood.  

This is a flagship scheme based on skill training of the youth and is implemented by the Ministry of Skill Development and Entrepreneurship with the support of the National Skill Development Corporation (NSDC). 

Impact of the Scheme

Considering how widespread the problem of unemployment is, the Yojana naturally was supposed to have a large wingspan. The scheme is intended to cover 10 million youth from the years 2016-2020. 

Who is this scheme aimed towards?

The first in line beneficiaries of the scheme are

  1. The unemployed youth of the nation or college/school dropouts. 
  2. Anyone who has a verifiable identity proof – Aadhaar / Voter ID and a legitimate bank account. 

The Salient feature of this Yojana

There are considerable objectives the Yojana intends to achieve. The most important among them are

  1. Short term training of candidates 
  2. Recognition of prior learning, so that the competencies of the candidate can be aligned better. When that happens, thorough assessment and tests would lead to legitimate certification which will enhance the candidate’s chances of acquiring a job. 
  3. Kaushal and Rozgar Mela would be arranged for candidates who are actively looking for a job. The Rozgar melas or job fairs would be organized every 6 months with thorough media and press coverage

Achievements of the Scheme

The Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana aims to invest in the youth so that a quality workforce is provided to the industries around the nation. This not only solves the problem of unemployment, but it also helps elevate the nation’s economy by producing top-notch, export-quality commodities. 

The placement performance of those who have enrolled in this scheme stands at a staggering 54.53% 

Simply put, this means that 54.53% of students trained under this scheme have found a job to earn a means of livelihood for themselves. For a scheme that is yet in its nascent stages, 54.53% stands to be a bright figure. 

A total of 1,450,757 candidates got placed across the nation, and this number increases by leaps and bounds every day. 

Key Skills Imparted by the Yojana

The scheme is aimed at providing a holistic approach to industrial training of candidates who have never worked in such setups before. 

Therefore, there happens to be a meticulous set of components in place to aid the professional development of applicants. 

Such key components are:

  • Short term training
  • Recognition of Prior training
  • Inclusion in special projects conducted across the nation
  • Kaushal and Rozgar Mela
  • Placement assistance provided to every candidate
  • Continuous monitoring of candidates so that their overall progress is channelized and guided accordingly

In conclusion

Through such schemes, PM Narendra Modi intends to reach out to the youth of the country and put to better use the talents and the skills that often go unnoticed. Such schemes are not a charity, but a platform provided where people get a fair chance to exercise their skills and earn themselves a living they most rightfully deserve. 

The Kaushal Vikas Yojana is one of the many such attempts in place to bring about a frame-shift in the current economic scenario. While the nation aims to progress in the currents of change, what brighter future awaits our young nation is something to be explored.

For more information click here.

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKY)

बेरोजगारी भारत की प्रगति में एक बड़ी बाधा है। आर्थिक प्रगति में इस निरंतर बढ़ते बहाव से लड़ने के लिए, भारत सरकार ने प्रधान मंत्री विकास योजना शुरू की, जिसका उद्देश्य लोगों के कौशल को विकसित करना और फिर उन्हें उन मार्गों से परिचित कराना है जो वास्तव में आजीविका का साधन ला सकते हैं।यह युवाओं के कौशल प्रशिक्षण पर आधारित एक प्रमुख योजना है और इसे कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (NSDC) के समर्थन से लागू किया गया है।

योजना का प्रभाव

यह देखते हुए कि बेरोज़गारी की समस्या कितनी व्यापक है, योजना का स्वाभाविक रूप से एक बड़ा विस्तार होना था। इस योजना का उद्देश्य वर्ष 2016-2020 तक १ करोड़ युवाओं को कवर करना है।

यह योजना किसके प्रति लक्षित है?

योजना के प्रथम लाभार्थी हैं:

  1. राष्ट्र या कॉलेज / स्कूल छोड़ने वाले बेरोजगार युवा।
  2. जिस किसी के पास भी पहचान का प्रमाण है – आधार / वोटर आईडी और वैध बैंक खाता।

इस योजना की मुख्य विशेषता

योजना को प्राप्त करने के लिए काफी उद्देश्य हैं। उनमें से सबसे महत्वपूर्ण हैं:

  1. उम्मीदवारों की अल्पावधि प्रशिक्षण।
  2. पूर्व शिक्षण की मान्यता, ताकि उम्मीदवार की दक्षताओं को बेहतर तरीके से संरेखित किया जा सके। जब ऐसा होता है, तो पूरी तरह से मूल्यांकन और परीक्षण वैध प्रमाणीकरण का कारण बनेंगे जो उम्मीदवार के नौकरी हासिल करने की संभावनाओं को बढ़ाएगा।
  3. कौशल और रोज़गार मेले में उन उम्मीदवारों के लिए व्यवस्था की जाएगी जो सक्रिय रूप से नौकरी की तलाश में हैं। रोज़गार मेलों या नौकरी मेलों का आयोजन हर 6 महीने में पूरी तरह से मीडिया और प्रेस कवरेज के साथ किया जाएगा।

योजना की उपलब्धियां

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना का उद्देश्य युवाओं में निवेश करना है, ताकि देश भर के उद्योगों को गुणवत्तापूर्ण कार्यबल प्रदान किया जा सके। यह न केवल बेरोजगारी की समस्या को हल करता है, बल्कि यह शीर्ष-स्तर, निर्यात-गुणवत्ता वाली वस्तुओं का उत्पादन करके देश की अर्थव्यवस्था को ऊपर उठाने में मदद करता है।जिन लोगों ने इस स्कीम में दाखिला लिया है उनका प्लेसमेंट प्रदर्शन 54.53% है।सीधे शब्दों में, इसका मतलब है कि इस योजना के तहत प्रशिक्षित 54.53% छात्रों ने अपने लिए आजीविका का साधन अर्जित करने के लिए नौकरी पाई है। ऐसी योजना के लिए जो अभी तक अपने नवजात चरणों में है, 54.53% एक उज्ज्वल व्यक्ति है।देश भर में कुल 14,50,757 उम्मीदवारों को नौकरी मिली, और यह संख्या हर दिन बढ़ते जा रही है।

योजना के द्वारा महत्वपूर्ण कौशल

यह योजना उन अभ्यर्थियों के औद्योगिक प्रशिक्षण के लिए एक समग्र दृष्टिकोण प्रदान करने के उद्देश्य से है, जिन्होंने पहले इस तरह के सेटअप में काम नहीं किया है।इसलिए, आवेदकों के व्यावसायिक विकास की सहायता के लिए घटकों का एक सावधानीपूर्वक सेट होना आवश्यक है।ऐसे प्रमुख घटक हैं:

  • लघु अवधि प्रशिक्षण।
  • पूर्व प्रशिक्षण की मान्यता।
  • राष्ट्र भर में आयोजित विशेष परियोजनाओं में शामिल।
  • कौशल और रोज़गार मेला।
  • प्रत्येक उम्मीदवार को प्लेसमेंट सहायता प्रदान की जाती है।
  • उम्मीदवारों की सतत निगरानी ताकि उनकी समग्र प्रगति उसी के अनुरूप हो और निर्देशित हो।

निष्कर्ष के तौर पर

ऐसी योजनाओं के माध्यम से, पीएम नरेंद्र मोदी देश के युवाओं तक पहुंचने का इरादा रखते हैं तथा बेहतर प्रतिभाओं और कौशल का उपयोग करने के लिए जिसपे अक्सर कोई ध्यान नहीं देता हैं। इस तरह की योजनाएं कोई दान नहीं है, बल्कि एक ऐसा मंच प्रदान किया है जहां लोगों को अपने कौशल का उपयोग करने का उचित मौका मिलता है और अपने आप को एक ऐसा जीविकोपार्जन करें जिसके वे सबसे योग्य हैं।कौशल विकास योजना वर्तमान आर्थिक परिदृश्य में एक फ्रेम-शिफ्ट लाने के लिए कई ऐसे प्रयासों में से एक है। जबकि राष्ट्र का उद्देश्य परिवर्तन की धाराओं में प्रगति करना है, हमारे राष्ट्र के युवा को किस उज्जवल भविष्य की प्रतीक्षा है, इसका पता लगाया जाना चाहिए।अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए ये वीडियो देखें 

14 thoughts on “Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana (PMKY)”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Similar Yojanas

Pradhanmantri Balika Anudan Yojana

View Details

Pm Swamitva Yojana

View Details

Pradhan Mantri Annadata Aay Sanrakshan Abhiyan (PM-AASHA)

View Details

Pradhan Mantri Khanij Kshetra Kalyan Yojana (PMKKY)

View Details

National Bal Swachhta Mission

View Details

PM Formalization of Micro Food Processing Enterprises (PM FME) Scheme

View Details

New Education Policy 2020

View Details

PM Street Vendor’s AtmaNirbhar Nidhi (PM SVANidhi) Scheme

View Details

Aatmanirbhar Skilled Employee Employer Mapping (ASEEM)

View Details

PM Saubhagya Yojana

View Details

PM Garib Kalyan Yojana

View Details

Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi – New List 2020 -How to check?

View Details

How to See HHID Number with Ayushman Bharat Scheme Beneficiaries List 2020?

View Details

Ujjwala beneficiaries to get 3 free cylinders

View Details

CSC Digital Seva Portal – All Links, Check your CSC Status, Bank Mitra Services

View Details

India announces Economic Support of 1.7 Lakh Crore in the wake of the Corona Crisis

View Details

National Rurban Mission

View Details

Pradhan Mantri Ujjwala Yojana

View Details

Pradhan Mantri Kisan Sampada Yojana

View Details

Pradhan Mantri Gramin Digital Saksharta Abhiyan

View Details

Pradhan Mantri Swasthya Suraksha Yojana

View Details

Pradhan Mantri Rojgar Yojana

View Details

Pradhan Mantri Ayushman Bharat Yojana

View Details

Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana

View Details

Swachh Bharat Mission

View Details

Gold Monetization Scheme

View Details

Soil Health Card Scheme

View Details

Setu Bharatam Yojana

View Details

Pradhan Mantri’s Rural Development Fellows Scheme

View Details

Pradhan Mantri’s Research Fellowship Scheme

View Details

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

View Details

Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana

View Details

MUDRA Yojana

View Details

Atal Mission for Rejuvenation and Urban Transformation Yojana (AMRUT)

View Details

Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana (PMJJBY)

View Details

Pradhan Mantri Awas Yojana 2020- Apply Online

View Details

Pradhan Mantri Shram Yogi Maandhan (PMSYM) Scheme – Pension for Retail Traders & Shopkeepers

View Details

Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Yojana

View Details

Pradhan Mantri Swasthya Suraksha Yojana (PMSSY)

View Details

Pradhan Mantri Jan-Dhan Yojana

View Details

Pradhan Mantri Gram Sadak Yojana

View Details

Pradhan Mantri Yuva Yojana

View Details